शुक्रवार, 4 नवंबर 2016

ब्रम्हांड में जीवन संचार

bramhand,jeevan,sanchar,Soul,Motherwomb,embriyo,truth
शून्य में ओमकार का वास
जीवित शरीर में आत्मा का वास
माँ के गर्भ में भ्रूण का वास
तपस्वी के मन में इष्ट का वास
शाश्वत में नश्वर का वास
सत्य में असत्य का वास
ब्रम्हांड में यही है जीवन का संचार

12 टिप्‍पणियां:

  1. jeevan sanchar ki sahi paribhasha hai aapke dwara rachit ye kavita

    उत्तर देंहटाएं
  2. ओमकार विद्यमान है उनकी ज्योति हम सब में है ...ये चक्र पूर्णतः सही है

    उत्तर देंहटाएं
  3. The best lines i have ever read...prakash yatra hai jeevan mera ab pata chala

    उत्तर देंहटाएं