सोमवार, 24 अक्तूबर 2016

प्रभु इच्छा,God Wish

Sea,Sky,Bermuda,Triangle,hexagonal,Mystery,Missing,Air,bombs,Earth,War,Research

आकाश में छल है
सागर में बल है
धरती पे समर है
पाताल में परत है
सृष्टि की प्रत्येक हलचल में
प्रभु इच्छा निहित है
माया है उनकी कर्म हमारा

15 टिप्‍पणियां:

  1. behatreen..jo karm nihit hai wahi karna ishwar ki iccha hai

    उत्तर देंहटाएं
  2. the almighty has decided everything and we all have assigned jobs..true 100 percent

    उत्तर देंहटाएं

  3. हर प्राणी के लिए ईश्वर ने कुछ कर्म निहित किये है यहाँ तक की सूरज चाँद सितारे सागर सब उनकी इच्छा से अपना कर्म करते है ..
    dive thought...thanks for writing such great lines

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर

    1. हर प्राणी के लिए ईश्वर ने कुछ कर्म निहित किये है यहाँ तक की सूरज चाँद सितारे सागर सब उनकी इच्छा से अपना कर्म करते है ..

      divine thought...thanks for writing such great lines

      हटाएं
  4. सबका काम निश्चित है मेरा भी तेरा भी ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. Geeta mein kaha gaya hai sabke kam sunishchit hai aur aapki rachna bhi yahi kahti hai..

    Great great great

    उत्तर देंहटाएं