बुधवार, 19 अक्तूबर 2016

हँसना मना है

लड़की मुस्कुराहट पर ताला तो लगा

इस हंसी के अर्थ मुश्किल में डाल देंगें


थोड़ा हंसोगी तो शुरूआत समझी जाएगी


खुलकर हंस दी तो फंस गई ऐलान हो जाएगा


ये पुरूषो की दुनिया के मतलब बड़े मतलबी हैं


तुम हंसोगी दिल से और उसके हौंसले बुलंद होंगे 


अपनी मां बहन को भूलकर पैमाने बनाते हैं

अब सोचो "हंसी तो फंसी"जुमला किसने मशहूर किया

13 टिप्‍पणियां:

  1. सवाल जायज है और तीखा भी। जो बातें कई बार सामान्य सी लगती हैं वे आगे चलकर तीखी और कई बार भयावह रूप भी ले लेती हैं। इसलिए कभी कभी हमें सामान्य टिप्पणियों पर सख्त भी होना पड़ता है। चाहे लोग हमें कट्टर ही क्यों न कहे।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सवाल जायज है और तीखा भी। जो बातें कई बार सामान्य सी लगती हैं वे आगे चलकर तीखी और कई बार भयावह रूप भी ले लेती हैं। इसलिए कभी कभी हमें सामान्य टिप्पणियों पर सख्त भी होना पड़ता है। चाहे लोग हमें कट्टर ही क्यों न कहे।

    उत्तर देंहटाएं
  3. दीपक जी आपके मत से मैं पूर्णतः सहमत हूँ क्योकि बात जब अस्मिता पर सवाल उठाये तो सख्त रवैया अख्तयार करना ही चाहिए

    उत्तर देंहटाएं
  4. main ladki hun samajh sakti hun aur aise situation se do char bhi hui hun...thanks for the beautiful and straight lines

    उत्तर देंहटाएं
  5. ladka hun par manta hun ye sach hai ki fikre ladkiyo par kuch aise hi kase jate hai...badlna hoga ravayat ko

    उत्तर देंहटाएं
  6. लड़की हँसी पर ताला लगा तो ज़रा ...बड़े बूढ़े कहा करते है ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. hum jaise hi kuch log hai jinki soch ki badulat aise jumle bane...

    उत्तर देंहटाएं